जीवनशैली

शहीदों के नाम तिरंगा यात्रा की एक शाम – Tiranga Yatra

अंशुल त्यागी

आजादी आंदोलन के महान क्रांतिकारी शहीद-ए-आजम भगत सिंह, सुखदेव व राजगुरु के बलिदान दिवस 23 मार्च के उपलक्ष्य में गौ माता सेवा संस्था ने तिरंगा यात्रा (Tiranga Yatra) की शुरूआत की। शहीदों की याद में तिरंगा यात्रा का शुभारंभ कर गीत मेरा रंग दे बसंती चोला के साथ हुआ। यात्रा में संस्था के सभी कार्यकर्ताओं ने क्रांतिकारियों के जीवन संघर्ष के बारे में बात रखते हुए बताया कि आज हमें क्रांतिकारियों के बलिदान दिवस मनाने और उनके विचारों को समाज तक पहुंचाने की आवश्यकता है। आजादी आंदोलन के समय देश व समाज के प्रति जो भावना नौजवानों में थी, वह आज देखने को नहीं मिलती है। वर्तमान समाज में कई समस्याएं विद्यमान हैं, ऐसे में इन समस्याओं के खिलाफ छात्रों व नौजवानों के बीच एक बेहतर आदर्श को स्थापित करने की आवश्यकता है।

गौ माता सेवा संस्था की टीम

क्या हुआ था ?

आजादी आंदोलन के समय 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग में एक सभा आयोजित की गई। सभा में हजारों की संख्या में महिला, पुरुष, बच्चे व बुजुर्ग उपस्थित थे, तभी अंग्रेज गवर्नर जनरल डायर ने उपस्थित लोगों पर गोलियों की बौछार कर दी। लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागते रहे, लेकिन कोई भी नहीं बच सका। बाग में स्थित कुआं लाशों से पट गया। इस हृदय विदारक व दमनकारी घटना ने भगत सिंह को झकझोर दिया। उन्होंने शपथ ली कि वह अंग्रेजों को अपने देश से निकालकर ही दम लेंगे। भगत सिंह का सपना आज भी अधूरा है। वह ऐसा नहीं चाहते थे कि गोरे अंग्रेज चले जाएं और उनकी जगह जाति व धर्म की राजनीति करने वाले लोग देश की बागडोर संभालें। आज भी देश में सबको शिक्षा व चिकित्सा जैसी मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। जिनके पास पैसा है, वह अच्छी शिक्षा व चिकित्सा का लाभ ले पा रहे हैं। भगत सिंह ने एक ऐसे समाजवादी देश का सपना देखा था, जहां अमीर-गरीब की खाई न हो। लोग समानता व भाईचारे के साथ बिना किसी भेदभाव के रहें। तिरंगा यात्रा में लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। गौ माता सेवा संस्था के जिला अध्यक्ष करन प्रजापति जी ने कार्यक्रम का संचालन किया।


कौन-कौन था शामिल ?

तिरंगा यात्रा में गौरव कुशवाहा,बादल गुप्ता, सचिन कमांडो, अरविंद, सुशील कुमार, कन्हैयाठाकुर, दीपू, रोहित, सागर, विशाल, सौरभ सिंह, पवन, जितेंद्र यादव, जगदीश कश्यप, राहुल वर्मा आदि सभी लोग मौजूद रहे।

हमसे जुड़िए –

Recent Posts

DME पूर्व छात्र नेटवर्क ने पूर्व छात्रों की बैठक 2022 का आयोजन किया

नोएडा, 3 दिसंबर, 2022: डीएमई पूर्व छात्र नेटवर्क ने 3 दिसंबर को एम्फीथिएटर, दिल्ली मेट्रोपॉलिटन…

December 3, 2022

एक्टर हर्षवर्धन राणे और एक्ट्रैस पायल राजपूत ने की लकी ड्रा विनर की घोषणा

अंशुल त्यागी, अभिनेता हर्षवर्धन राणे, अभिनेत्री पायल राजपूत ने भारत के अग्रणी इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट में…

November 10, 2022

वृतिका मीडिया फेस्ट के अंतिम दिन छात्रों ने खूब उठाया आनंद !

डिम्पल भारद्वाज : नोएडा, 2 नवंबर, 2022: न्यूज़रूम कन्वर्जेंस मीडिया के छात्रों के लिए व्यापक…

November 4, 2022

तनिष्क बागची: जब मैं मुंबई आया तो मैंने नए से शुरुआत की थी।

डिम्पल भारद्वाज || तनिष्क बागची को उनके वर्सेटाइल ट्रैक जैसे 'राता लम्बियां', 'मखना', 'वे माही',…

November 3, 2022

फैशनिस्टा से एक्ट्रेस बनी मसाबा गुप्ता का बर्थ डे: एक नाम कई काम।

डिम्पल भारद्वाज || मसाबा गुप्ता आज 33 वर्ष की हो गई हैं डिजाइनर से अभिनेता…

November 3, 2022

दिल्ली में फिल्म रॉकेट गैंग का शानदार शो !

डिम्पल भारद्ववाज || चंडीगढ़ में बच्चों को दावत देने के बाद रॉकेट गैंग एक और…

November 3, 2022

This website uses cookies.